Saturday, July 13, 2024
HomeदेशMoon Shiv Shakti Row: चांद पर लैंडिंग साइट के नाम 'शिव शक्ति'...

Moon Shiv Shakti Row: चांद पर लैंडिंग साइट के नाम ‘शिव शक्ति’ से कांग्रेस परेशान, बोली कांग्रेस…क्या चांद भारत का हो गया? जानिए ISRO चीफ एस सोमनाथ ने कैसे दिया कांग्रेस को धोया

ISRO के वैज्ञानिकों की लगन और मेहनत से चंद्रमा (Moon) पर तिरंगा लहरा रहा है। चंद्रमा के उस हिस्से की तस्वीरें पूरी दुनिया देख रही है जहां अबतक कोई देश नहीं पहुंचा था। चांद के साउथ पोल (South Pole of Moon) से रोवर (Rover) लगातार नई-नई जानकारियां और तस्वीरें भेज रहा है। लेकिन, देश के सियासतदानों को इस उपलब्धि में भी राजनीति करनी है, सरकार को कोसना है, पुरानी सरकारों के द्वारा किए गए कार्यों का बखान करना है। हद तो ये है कि जिस जगह पर विक्रम लैंडर (Vikram Lander) उतरा उसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 'शिव शक्ति' (Shiv Shakti) नाम क्या दिया, उसपर भी हंगामा मच गया। तथाकथित सेक्यूलर पार्टियों का प्रतिनिधित्व कर रही कांग्रेस (Congress) के नेता राशिद अल्वी (Rashid Alvi) ने पीएम द्वारा चांद के एक विशेष हिस्से के नामकरण को गलत ठहरा दिया। एक हिंदी न्यूज़ चैनल से बात करते हुए उन्होंने कहा कि, ''मोदी जी को ये अधिकार कैसे मिल गया कि चंद्रमा पर नामकरण कर दें। अब तो पूरी दुनिया हम पर हंसेगी। चंद्रम की जिस सतह पर लैंडिंग हुई, इस बात पर तो सभी को गर्व है, लेकिन आप चंद्रमा के मालिक तो नहीं हो जाते। बीजेपी की यही आदत रही है, वो सिर्फ नाम बदलती रहती है।''

लोकसभा चुनाव में मुस्लिम वोटों के लिए ‘शिव शक्ति’ नाम पर आपत्ति?

कांग्रेस पार्टी (Congress Party) के नेता राशिद अल्वी के बयान से कई सवाल उठते हैं, जैसे, उन्हें चंद्रमा के विशेष हिस्से को शिव शक्ति पुकारे जाने से दिक्कत क्यों है? क्या कांग्रेस नेता राशिद अल्वी को भगवान शिव (Lord Shiva) से परेशानी? क्या वो अपने देश के पीएम के बयान का खुद ही उपहास कर भारत का मान-सम्मान बढ़ाने का काम कर रहे हैं? चंद्रमा का मालिक भारत नहीं तो वो क्या वो और उनकी पार्टी कांग्रेस है? क्या चंद्रमा का भी खसरा नंबर राशिद अल्वी और कांग्रेस के पास है जो उन्हें इतनी दिक्कत हो रही है? खैर, मौजूदा राजनीतिक परिदृश्य में कांग्रेस की मजबूरी और उसकी रणनीति समझी जा सकती है। कांग्रेस का पूरा फोकस पीएम मोदी को टारगेट करना, उनके हर काम और हर बयान पर सवाल उठाना है, उनके विदेश दौरों पर नकारात्मक माहौल बनाना है, ताकि उसका टारगेट वोटर क्षेत्रीय दलों के साथ ना जाकर 2024 के लोकसभा चुनाव (2024 Lok Sabha Election) में उसे वोट करे। मुस्लिम वोटों (Muslim Voter) के ध्रुवीकरण के लिए कांग्रेस चुन-चुन कर ऐसे मुद्दे उठा रही है जिससे उसका टारगेट वोटर आकर्षित हो, जैसे, यूपी में एक मुस्लिम बच्चे के साथ टीचर की हरकत और चांद के विशेष हिस्से को शिव शक्ति कहकर पुकारना। लेकिन, कांग्रेस को ISRO के वैज्ञानिकों ने ही बता दिया है कि पीएम मोदी ने जो कहा नो सही कहा। 
बीजेपी का कांग्रेस का मज़ाक उड़ाते हुए ट्वीट

ISRO चीफ एस सोमनाथ ने कांग्रेस नेताओं की बोलती बंद!

इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन के चेयरमैन (ISRO Chief S Somanath) एस. सोमनाथ ने कहा है कि, लैंडिंग साइट का नाम 'शिव शक्ति' रखने पर कोई विवाद नहीं है। भारत को उस जगह का नाम रखने का अधिकार है। एस सोमनाथ ने कहा कि, इस नामकरण में कुछ भी गलत नहीं है। ISRO चीफ ने चांद पर लैंडिंग साइट (Landing Site) का नाम 'शिव शक्ति' रखने पर कहा, 'प्रधानमंत्री ने इसका अर्थ भी इस तरह समझाया जो हम सभी के लिए उचित है।' उन्होंने रविवार को केरल के तिरुवनंतपुरम में पौर्णमिकवु-भद्रकाली मंदिर में पूजा-अर्चना करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि, विज्ञान और आस्था दो अलग-अलग चीजें हैं, दोनों को मिलाने की जरूरत नहीं है। दरअसल, ग्रीस से लौटने के बाद पीएम मोदी अगले ही दिन बैंगलुरु गए थे। वहां वो ISRO के वैज्ञानिकों से मिले और उनकी हौसलाअफज़ाई की थी। इस मौक पर पीएम मोदी ने, विक्रम लैंडर के उतरने वाले जगह को शिव शक्ति नाम दिया था। उन्होंने कहा था कि, ''काफी सोच विचार के बाद मुझे लगा कि उस पॉइंट को हमें शिव शक्ति नाम देना चाहिए। शिव की बात होती है तो हिमालय याद आता है, शक्ति की बात होती है कन्याकुमारी याद आता है, महिलाएं याद आती हैं।'' लेकिन, अपना राजनीतिक भविष्य बचाने और नरेंद्र मोदी को सत्ता से हटाने के लिए कांग्रेस को ये तर्क समझ नहीं आया और एक बार फिर अपने देश, अपने ही पीएम का मज़ाक उड़ाने की कोशिश की। 
इसरो के पूर्व वैज्ञानिक नंबी नारायणन ने विपक्षी पार्टियों को लताड़ा

मोदी पर सवाल उठाने वाली कांग्रेस का सोशल मीडिया पर किया गया नया कमाल

चंद्रमा पर भारत के कामयाब मिशन से पूरी दुनिया हैरान है और भारत की तारीफ कर रही है। लेकिन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नीचा दिखाने के लिए कांग्रेस जवाहर लाल नेहरू (Jawahar Lal Nehru) से लेकर इंदिरा गांधी (Indira Gandhi) और मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) के कार्यकाल के दौरान ISRO के कार्यों का क्रेडिट लेने में जुट गई है। सोशल मीडिया पर कांग्रेस आईटी सेल द्वारा धड़ाधड़ पोस्ट किए जा रहे हैं। जबकि ये वही कांग्रेस जो कहती रहती है कि, जो किया वैज्ञानिकों ने किया, मोदी जी ने क्या किया, कुछ भी नहीं। अरे भाई, यही फॉर्मूला तो आप पर भी लागू होता है, आप क्यों नेहरू जी, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और मनमोहन सिंह के कार्यकाल के दौरान ISRO के कार्यों का क्रेडिट ले रहे हैं। 

कांग्रेस पार्टी द्वारा किए गए वो पोस्ट जिसमें वो वैज्ञानिकों के कार्यों का क्रेडिट लेती नजर आ रही है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Posts

Most Popular