Friday, June 21, 2024
HomeबॉलीवुडDipika Chikhlia: आदिपुरुष विवाद के बीच सीता के अवतार में दीपिका चिखलिया,...

Dipika Chikhlia: आदिपुरुष विवाद के बीच सीता के अवतार में दीपिका चिखलिया, लोग बोले एक वीडियो पूरी फिल्म पर भारी

आदिपुरुष (Adipurush) से जुड़े विवाद जल्द खत्म होते नहीं दिख रहे। प्रभास (Prabhas) और फिल्म के दूसरे कलाकारों से दर्शकों को बहुत उम्मीद थी, लेकिन फिल्म के कुछ संवादों ने विवाद खड़ा कर दिया और प्रशंसकों को निराश कर दिया। प्रशंसकों ने भगवान राम और भगवान हनुमान के बीच हास्यास्पद संवादों का उपयोग करने के लिए निर्माताओं को फटकारा। फिल्म देखने के बाद, कई लोगों ने डीडी नेशनल पर रामानंद सागर (Ramanand Sagar) द्वारा महाकाव्य रामायण (Ramayana) को फिर से रिलीज़ करने की मांग की। इस बीच, माता ‘सीता’ की भूमिका निभाने वाली दीपिका चिखलिया (Dipika Chikhlia) ने प्रशंसकों को एक नया वीडियो दिखाया, जिसके बारे में उनका दावा है कि ये जनता की मांग पर है।

सोमवार को दीपिका ने अपने इंस्टाग्राम हैंडल (Instagram handle) पर एक क्लिप डाली, जिसमें वो भगवा साड़ी पहनी दिखीं। कैप्शन में उन्होंने लिखा, “ये पोस्ट पब्लिक डिमांड पर है… मैं उस प्यार के लिए आभारी हूं जो मुझे हमेशा मेरे द्वारा निभाई गई भूमिका के लिए मिला है… मैं… सीताजी के रूप में… इससे ज्यादा नहीं मांग सकती थी।”

जैसे ही दीपिका ने वीडियो पोस्ट किया, प्रशंसकों ने अभिनेत्री पर प्यार की बौछार कर दी। एक यूजर ने लिखा, “मैम आपकी ये एक रील पूरी आदिपुरुष फिल्म पर भारी पड़ेगी”। एक अन्य ने टिप्पणी की, “आप अद्भुत हैं मेरी सीता मैया! हमेशा !!” कई ने ये भी कमेंट किया कि ‘दीपिका को सीता के रूप में कोई रिप्लेस नहीं कर सकता।’

इससे पहले, रामानंद सागर के बेटे प्रेम सागर (Prem Sagar) ने महाकाव्य रामायण की गलत व्याख्या के लिए ओम राउत के आदिपुरुष (Om Raut’s Adipurush) पर अपनी निराशा व्यक्त की थी।

एक इंटरव्यू में प्रेम ने कहा था कि, उन्होंने फिल्म तो नहीं देखी है, लेकिन उन्होंने टीज़र और ट्रेलर देखा है। भगवान की भूमिका निभाने वाले देवदत्त नागे द्वारा बोले गए ‘टपोरी’ शैली के संवाद ‘तेल तेरे बाप का, जलेगी तेरे बाप की’ का इस्तेमाल सरासर गलत है। उन्होंने कहा था कि, आदिपुरुष के माध्यम से चमत्कार बनाने की कोशिश की गई है। रामायण एक टेलीविजन सीरीज़ थी। शो का निर्माण, लेखन और निर्देशन रामानंद सागर ने किया था। ये मूल रूप से 1987-88 के बीच प्रसारित हुआ था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Posts

Most Popular