Sunday, July 21, 2024
HomeबॉलीवुडMukesh Khanna got angry on Adipurush: 'आदिपुरुष' की फूहड़ता पर याद आया...

Mukesh Khanna got angry on Adipurush: ‘आदिपुरुष’ की फूहड़ता पर याद आया गरुड़ पुराण, एक्टर मुकेश खन्ना ने बताया मेकर्स को मिलनी चाहिए कौन सी सजा

एक तरफ बॉक्स ऑफिस पर विवादित फिल्म आदिपुरुष (Adipurush) का खेल खत्म होता दिख रहा है, मंगलवार को इसका कलेक्शन औंधे मुंह गिरा है। तो दूसरी तरफ फिल्म इंडस्ट्री के कई कलाकार भी फिल्म के किरदार, कहानी और डायलॉग्स को बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं। टीवी के शक्तिमान यानि एक्टर मुकेश खन्ना (Mukesh Khanna) इस फिल्म को लेकर बेहद गुस्से (angry) में हैं।

‘मेकर्स को 50 डिग्री की गर्मी में झुलसा देना चाहिए’

मुकेश खन्ना (Mukesh Khanna) ने कहा कि आदिपुरुष (Adipurush) से बड़ा रामायण का कोई अपमान (Insult of Ramayana) नहीं हो सकता। आदिपुरुष रामायण (Ramayana) के साथ किया गया एक भयानक मजाक (Terrible joke) है। ओम राउत (Om Raut) को रामायण का कोई ज्ञान नहीं था। इसके अलावा हमारे पास बुद्धिजीवी राइटर मनोज मुंतशिर शुक्ला (Manoj Muntashir Shukla) है, जिन्होंने हमारी रामायण को कलयुग में बदल (Changed Ramayana to Kalyug) दिया है। उन्होंने कहा कि इनके मेकर्स के लिए गरुड़ पुराण (Garuda Purana) में कोई सजा (Punishment) देखनी चाहिए। इन्हें 50 डिग्री की गर्मी में झुलसा देना चाहिए।

‘सैफ अली खान रावण कम सस्ता स्मगलर ज्यादा दिख रहा’

मुकेश खन्ना ने रावण (Ravana) के किरदार को लेकर भी अपना गुस्सा जाहिर किया। उन्होंने कहा कि…

'रावण डरावना हो सकता है, लेकिन चंद्रकांता का शिवदत्त विश्वपुरुष कैसे दिख सकता है? वो एक पंडित था। कोई इस तरह के रावण की कल्पना भी कैसे कर सकता है। मुझे याद है कि जब फिल्म की घोषणा हुई थी तब सैफ अली खान (Saif Ali Khan) ने कहा था कि वो इस किरदार को ह्यूमरस बनाएंगे। मैंने तब भी यही बात कही थी तुम होते कौन हो हमारे महाकाव्य के किरदारों को बदलने वाले, अपने धर्म में कर के दिखाओ, सिर काटने लगेंगे। क्या ओम राउत को रावण के रोल के लिए सिर्फ सैफ अली खान मिला? इससे ऊंचा कैरेक्टर इंडस्ट्री में नहीं गया क्या? रावण कद्दावर था, इसको जुगाड़ से बनाया। रावण (Ravana) कम सस्ता स्मगलर (Cheap Smuggler) ज्यादा दिखता है।

मुकेश खन्ना ने मनोज मुंतशिर पर भी जमकर निशाना साधा। मुकेश खन्ना ने लिखा कि मनोज मुंतशिर ने अपने टपोरी लैंग्वेज में लिखे गए डायलॉग से इस फिल्म को ‘कलयुग की रामायण’ बना दिया। मुकेश खन्ना ने इंस्टाग्राम पर सेंसर बोर्ड (Censor Board) को लेकर भी सवाल उठाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Posts

Most Popular