Friday, June 21, 2024
HomeदेशAftab Narco Test, 1st Day: श्रद्धा के शव को कैसे काटा, किस...

Aftab Narco Test, 1st Day: श्रद्धा के शव को कैसे काटा, किस हथियार का इस्तेमाल किया, हथियार कहां छिपाए ?

श्रद्धा वालकर हत्याकांड में जिन सवालों के जवाब लंबे समय से दिल्ली पुलिस तलाश रही थी, वो आखिर मिल गए। अब तक बेहद शातिर तरीके से जांच टीम को गच्चा देने वाले आफ़ताब ने नार्को टेस्ट में बहुत सारे राज़ उगल डाले। दिल्ली पुलिस तगड़ी सुरक्षा के बीच आफ़ताब को नार्को टेस्ट के लिए दिल्ली के आंबेडकर अस्पताल लेकर पहुंची। इस दौरान आफ़ताब ने चेहरे पर मास्क लगाया हुआ था। हालांकि, इसके बावजूद वो बेहद शांत नज़र आया। फिर शुरु हुई नार्को टेस्ट की प्रक्रिया। आफ़ताब से जब सवाल पूछने का सिलसिला शुरू हुआ तो वो सवाल निकलने लगे जो आफताब से पहले भी पूछे जा चुके थे। दरअसल, पुलिस फिर से उसके जवाब जानना चाहती थी। सूत्रों के मुताबिक़…

  • आफताब ने कबूल किया कि श्रद्धा वालकर की हत्या उसी ने की
  • हत्या के बाद श्रद्धा के मोबाइल फोन और कपड़े कहां फेंके इसकी जानकारी भी दी
  • उसने ये भी बताया कि श्रद्धा के शव के टुकड़े करने में किन हथियारों का इस्तेमाल किया
  • फिर इन हथियारों को कहां फेंका, इस बारे में भी उसने बता दिया
  • जानकारी के मुताबिक आफ़ताब ने 7 हथियारों से शव के टुकड़े करने की बात कबूल की।
  • नार्को टेस्ट में भी आफ़ताब ने यही कहा कि श्रद्धा की हत्या उसने गुस्से में की।

आफ़ताब ने ज्यादातर सवालों के वही जवाब दिए जो इससे पहले सामान्य पूछताछ और पॉलीग्राफ टेस्ट में वो दे चुका था। चूंकि नार्को या पॉलीग्राफ टेस्ट में कही गई बात को क़ानून के सामने सबूत की तरह पेश नहीं किया जा सकता, इसलिए पुलिस अब नार्को टेस्ट से मिले जवाब के आधार पर जांच को और आगे बढ़ाएगी। पुलिस अब नए सिरे से उन ठिकानों की तलाश करेगी जहां आफ़ताब ने श्रद्धा की हत्या में इस्तेमाल हथियार फेंके थे। अगर पुलिस आफ़ताब के बताए ठिकाने से हथियार बरामद करने में कामयाब हुई तो उसे इस केस में आफताब के खिलाफ पुख्ता सबूत मिल जाएंगे।

आफताब से दिल्ली पुलिस ने कौन-कौन से सवाल पूछे ?

दिल्ली के आंबेडकर अस्पताल में आफ़ताब का नार्को टेस्ट हुआ जिसकी दो दिन पहले ही तैयारी हो चुकी थी। नार्को टेस्ट के लिए तय वक्त से डेढ़ घंटे पहले FSL की टीम अस्पताल पहुंच गई, जबकि आफताब क़रीब 9 बजे अस्पताल पहुंचा। टेस्ट की प्रक्रिया शुरू होने के कुछ देर बाद FSL की टीम ने आफ़ताब से उन सवालों के जवाब पूछे, जो दिल्ली पुलिस ने लिस्ट बनाकर उन्हें सौंपी थी।

  • ज्यादातर सवाल बेहद छोटे थे, जिनमें से कुछ के जवाब देने में आफताब ने थोड़ा वक़्त लिया
  • कुछ सवालों के जवाब में चुप्पी साध ली। लेकिन जब FSL की टीम ने सवाल दोहराया तो आफताब ने उन सवालों के भी जवाब दिए।
  • आफ़ताब को सबसे पहले कॉन्सेंट फॉर्म पढ़ने को दिया गया
  • कॉन्सेंट फॉर्म पर नार्को टेस्ट में शामिल सदस्यों के नाम भी थे
  • कॉन्सेंट फॉर्म पढ़ कर आफताब ने इस पर दस्तखत किए
  • लिखित रज़ामंदी के बाद कैमरे पर भी सहमति रिकॉर्ड की गई
  • शुरुआती प्रक्रिया के बाद एनेस्थिसिया का इंजेक्शन दिया गया
  • आफ़ताब की आंखों और जुबान पर इंजेक्शन का असर दिखा

इसके बाद ऑपरेशन थियेटर में मौजूद एक विशेषज्ञ ने आफ़ताब से उन सवालों के जवाब पूछने शुरू किए, जिसकी लिस्ट उन्हें दिल्ली पुलिस से पहले ही मिल गई थी। बताया गया कि आफताब ने कई सवालों के जवाब अंग्रेजी में दिए… और पॉलीग्राफ टेस्ट में जिन जवाबों के सच होन पर शक था, उन सवालों को फिर से दोहराया गया और आफताब ने नींद जैसी हालत में इनका जवाब भी दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Posts

Most Popular