Saturday, April 20, 2024
HomeदेशG20 Summit Security: विदेशी मेहमानों का रक्षाकवच बनेगा K-9 डॉग स्क्वॉड, NSG...

G20 Summit Security: विदेशी मेहमानों का रक्षाकवच बनेगा K-9 डॉग स्क्वॉड, NSG के हैंडलर और खोजी कुत्तों का दस्ता दिल्ली में तैनात

G20 Summit की सुरक्षा में NSG का K-9 डॉग स्क्वॉड मुस्तैद नज़र आएगा। इस एलिट K-9 डॉग स्क्वॉड को समिट के सभी प्रमुख जगहों पर तैनात किया जाएगा। इस डॉग स्क्वॉड को अर्बन वॉरफेयर के लिए ट्रेन किया गया है। ये डॉग स्क्वॉड आपात स्थिति से निपटने...एक्सप्लोसिव बरामद करने और दुश्मन पर हमला करने में माहिर माना जाता है। जबकि, NSG के इस एलिट K-9 डॉग स्क्वॉड में अलग-अलग नस्ल के कुत्ते जैसे, लैब्राडोर जर्मन शेफर्ड, बेल्जियन मालिनोआ और कॉकर स्पैनिअल शामिल हैं। K-9 दस्ते के चार पैरों वाले इन सैनिकों को G20 समिट के लिहाज़ से महत्वपूर्ण जगहों जैसे, राजघाट, ITPO और पूसा कैंपस पर तैनात किया जाएगा। यहां वो हर संदिग्ध गतिविधि पर नज़र रखने के साथ किसी भी गंभीर स्थिति का मुकाबला करने के लिए तैयार रहेंगे।

जम्मू कश्मीर में आतंकियों के ख़िलाफ ऑपरेशन हो या फिर नक्सलियों के खिलाफ मिशन, K-9 डॉग स्क्वॉड सुरक्षाबलों के साथ दुश्मन से लोहा लेता नज़र आया है। लेकिन, अब इस एलिट दस्ते पर G20 समिट की सुरक्षा का ज़िम्मा भी होगा। जबकि, G20 में NSG के K-9 डॉग स्क्वॉड की अलग-अलग टीमें अपना-अपना किरदार अदा करेंगी। 

- गूगल टीम में शामिल कॉकर स्पैनिअल नस्ल के कुत्तों पर अपहरणकर्ताओं को खोजने का ज़िम्मा होगा।
- ब्लैक लैब्राडोर नस्ल के कुत्तों वाली फॉक्स टीम आत्मघाती हमलावरों की पहचान करने का काम करेगी।
- पीले लैब्राडोर वाली माम्बा टीम गंध के ज़रिए विस्फोटकों की खोज करेगी। 
- ज़ोरो टीम में शामिल बेल्जियन मालिनोआ नस्ल के कुत्ते लेज़र ट्रेनिंग और नेविगेशन का काम करेंगे। 
- जबकि करण टीम में शामिल बेल्जियन मालिनोआ ब्रीड के डॉग्स हर गतिविधि पर नजर रखने के साथ ज़रूरत पड़ने पर हमला करने के लिए तैयार रहेंगे।
NSG का एलिट डॉग स्क्वॉड एंटी बैलेस्टिक डूगल्स, अंडरडॉग पॉकेट्स, नाइट विज़न कैमरा और बुलेटप्रूफ जैकेट्स से लैस होगा, ताकि G20 समिट में किसी भी बारूदी साज़िश को नाकाम करने के साथ रात के वक्त किसी भी संदिग्ध गतिविधि पर नज़र रखी जा सके। NSG के एलिट K-9 डॉग स्क्वॉड में शामिल चार पैरों के जवानों को हर मुश्किल हालात से मुकाबला करने के लिए ट्रेन किया गया है। ये शहरी इलाकों के साथ पहाड़ों से लेकर जंगली इलाकों में भी ऑपरेशंस को अंजाम दे सकते हैं। लिहाज़ा, G20 समिट की अहमियत को देखते हुए NSG के जवान अपने इन सुपर कमांडोज़ के साथ चप्पे-चप्पे पर पैनी नज़र रखते दिखाई देंगे। डॉग स्क्वॉड का हर सदस्य, फिर चाहे वो डॉग्स का हैंडलर ही क्यों ना हो, आधुनिक हथियारों से लैस होगा। 
K-9 डॉग स्क्वॉड में शामिल कुत्ते इमारतों के बेसमेंट से लेकर अलग-अलग फ्लोर्स पर छिपाई गई संदिग्ध चीज़ों को खोजने में माहिर माने जाते हैं। भीड़ में भी दुश्मन की पहचान करने और उसपर हमला करने में सक्षम होते हैं। दुश्मन के पैरों के निशान को पहचान कर उसतक पहुंचने में माहिर होते हैं। किसी भी विस्फोटक को खोजने के साथ उसके पास जैमर रख सकते हैं ताकि धमाका ना हो। इसके अलावा दुश्मन से हथियार जैसे राइफल या बंदूक छीनने में भी सक्षम होते हैं। यही वजह है कि जब अमेरिका से लेकर दुनिया के तमाम ताकतवर देशों के राष्ट्राध्यक्ष दिल्ली में होंगे, तो NSG का एलिट K-9 डॉग स्क्वॉड उनकी सुरक्षा में तैनात होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Posts

Most Popular