Monday, April 22, 2024
HomeदेशRahul Gandhi attacked Modi: चांदनी चौक से राहुल का बयान, 'नफ़रत के...

Rahul Gandhi attacked Modi: चांदनी चौक से राहुल का बयान, ‘नफ़रत के बाज़ार में मोहब्बत की दुकान’।

107 दिनों में तीन हज़ार किलोमीटर चलकर राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा दिल्ली पहुंची। दिल्ली पहुंचने पर राहुल गांधी (Rahul Gandhi) सुबह करीब 11 बजे जयदेव आश्रम पहुंचे। यहां पर उन्होंने मंदिर में पूजा अर्चना की। इसके बाद दोपहर करीब 2 बजे राहुल गांधी हजरत निजामुद्दीन पहुंचे और दरगाह पर चादर चढ़ाई। इस दौरान गांधी परिवार के चिराग ने बीजेपी पर जोरदार हमला बोला। दिल्ली में एंट्री करने के बाद भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) को लीड कर रहे कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भारतीय जनता पार्टी और RSS पर देश में नफरत फैलाने का आरोप लगाया। राहुल ने कहा कि इस नफरत के खिलाफ हर भारतीय को मोहब्बत की एक छोटी दुकान खोलनी चाहिए। इस दौरान राहुल गांधी ने ये भी कहा कि, BJP और RSS की नीति नफरत और डर फैलाने की है, लेकिन हम ऐसा नहीं होने देंगे।

लेकिन, जैसे ही राहुल गांधी लाल किला पहुंचे, उनके तेवर पहले से भी ज्यादा तीखे हो गए। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने लाल किले से आरोप लगाया कि बीजेपी की सरकार देश में नफरत फैलाकर लोगों का ध्यान भटका रही है ताकि उनकी जेब काटी जा सके। राहुल गांधी ने कहा कि, देश में अंबानी और अडानी सरकार चला रहे हैं, ना कि नरेंद्र मोदी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) पर लगाम लगी हुई है और उनसे चीजें संभल नहीं रही हैं।

”इस यात्रा का लक्ष्य भारत को जोड़ने का है। जब हमने ये यात्रा शुरू की तो सोच रहा था कि नफ़रत को मिटाने की ज़रूरत है। मेरे दिमाग में था कि इस देश में सब जगह नफ़रत फैली हुई है। मगर जब मैंने चलना शुरू किया तो सच्चाई बिल्कुल अलग थी। मीडिया के एक बड़े हिस्से में नफरत की बातें चलाई जाती हैं। जबकि, इस यात्रा के दौरान मैं लाखों लोगों से मिला हूं। सब एक दूसरे से प्यार करते हैं, नफ़रत नहीं करते । देश के 90 प्रतिशत लोग एक दूसरे नफ़रत नहीं करते।”

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का बयान

‘पीएम मोदी दो लोगों के गुलाम हैं’

राहुल गांधी ने BJP पर नफरत फैलाने का आरोप लगाया, तो वहीं चांदनी चौक की ओर इशारा करते हुए कहा कि, यहां मंदिर है, मस्जिद है और गुरुद्वारा भी है। यही हिंदुस्तान है। उन्होंने दावा किया कि नफरत फैलाकर ध्यान भटकाया जाता है और एयरपोर्ट, बंदरगाह, सड़कें और देश की संपत्तियां ‘प्रधानमंत्री के मालिकों’ के हवाले कर दी जाती हैं। उन्होंने कहा, जब कोई जेब काटता है तो पहले ये देखता है कि जिसकी जेब काटी जा रही है, उसका ध्यान भटक जाए। यही देश में हो रहा है कि ध्यान भटका कर देश की जेब काटी जा रही है।

‘चीन ने हमारी दो हजार वर्ग किलोमीटर ज़मीन हड़प ली’

राहुल गांधी ने हमेशा की तरह एक बार फिर नोटबंदी और GST को गलत ठहराया। उन्होंने कहा कि सरकार ने बिना सोचे समझे ये फैसले किए। राहुल गांधी ने कहा कि, प्रधानमंत्री ने छोटे व्यापारियों की रीढ़ की हड्डी तोड़ दी। राहुल गांधी ने कहा कि, हिंदू धर्म में कहां लिखा है कि गरीबों को कुचलना चाहिए, कमजोरों को मारना चाहिए? हिंदू धर्म में तो गले लगाने की बात होती है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुलं गांधी ने इस दौरान तवांग में हुए भारत-चीन संघर्ष को लेकर भी सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि, चीन ने हमारी 2000 वर्ग किलोमीटर जमीन हड़प ली। प्रधानमंत्री कहते हैं कि अंदर कोई नहीं आया। अगर कोई नहीं आया तो हमारी सेना ने उनकी सेना के साथ 21 बार बात क्यों की? राहुल ने कहा कि, हमें ऐसा हिंदुस्तान बनाना है कि शंघाई में कोई युवा जूता खरीदे तो उस पर ‘मेड इन इंडिया’ लिखा हो।

‘ये लोग डर फैला रहे हैं। किसानों, युवाओं, छोटे व्यापारियों और माताओं-बहनों के दिल में डर फैला रहे हैं। भगवान शिव कहते हैं डरो मत, हिंदू धर्म कहता है कि डरो मत। लेकिन, ये लोग हमेशा डर फैलाने की बात करते हैं।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का बयान

सावरकर पर टिप्पणी राहुल गांधी पर पड़ेगी भारी ?

इधर राहुल गांधी दिल्ली में दहाड़ रहे थे, तो उधर लखनऊ से एक फरमान उनकी मुसीबत बढ़ाने के लिए जारी हो चुका था। राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के खिलाफ लखनऊ की एक अदालत में परिवाद (शिकायत) दर्ज किया गया है। भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) के दौरान महाराष्ट्र में विनायक दामोदर सावरकर के खिलाफ कथित तौर पर राहुल गांधी ने अपमानजनक टिप्‍पणी की थी। जिसपर अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी अम्बरीश कुमार श्रीवास्तव ने अपने आदेश में शिकायतकर्ता को CRPC की धारा 200 के तहत अपना सबूत पेश करने का निर्देश दिया है। शिकायतकर्ता और उसके गवाहों की तहत गवाही दर्ज करने करने के बाद अदालत अपराधों का संज्ञान लेने या ना लेने, और राहुल गांधी को समन जारी करने के संबंध में फैसला करेगी। अदालत ने इस मामले में सुनवाई की अगली तारीख 9 जनवरी को तय की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Posts

Most Popular