Tuesday, April 23, 2024
HomeदेशSmriti Irani questions on Rahul Gandhi's Mohabbat ki Dukan: 'ये कैसी मोहब्बत...

Smriti Irani questions on Rahul Gandhi’s Mohabbat ki Dukan: ‘ये कैसी मोहब्बत जिसमें संसद का बहिष्कार और लुटेरों से प्यार’, स्मृति ईरानी का राहुल गांधी पर तीखा हमला

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की (Rahul Gandhi) ‘मोहब्बत की दुकान’ (Mohabbat Ki Dukan) पर तीखा हमला करते हुए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने गुरुवार को सवाल उठाया। स्मृति ईरानी ने भारतीय लोकतंत्र के प्रति राहुल गांधी के प्रेम और नए संसद भवन के उद्घाटन के बहिष्कार (Boycott of the opening of the new parliament building) को लेकर भी तंज़ कसा। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान स्मृति ईरानी ने कहा कि…

"ये कैसा प्यार है जो सिखों का कत्लेआम करता है? ये कैसा प्यार है जो कोयला और चारा लूटने वालों से हाथ मिला लिया? ये कैसा प्यार है जो सेंगोल का अपमान करता है? ये कैसा प्यार है जो अपनी ही संसद का बहिष्कार करता है? ये कैसा प्यार है जो 'द केरल स्टोरी' के आने पर कुछ नहीं बोलता? ये कैसा प्यार है जो भारत को कोसने वालों से हाथ मिलाता है और गले लगता है? ये कैसा प्यार है?"

स्मृति ईरानी ने गिनाईं मोदी सरकार की उपलब्धियां

विदेशों में भारत को बदनाम करने के लिए राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए स्मृति ईरानी ने कहा कि, “ये कैसा प्यार है जो भारत को कोसने वालों को गले लगाने वालों से हाथ मिलाते हैं, ये कैसा प्यार है?” प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान स्मृति ईरानी ने महिलाओं की सुरक्षा को लेकर भारत सरकार की उपलब्धियां गिनाईं और कहा कि, ‘आज सरकार में महिलाएं सुरक्षित हैं’। इसके अलावा उन्होंने मीडिया के सामने पिछले 9 सालों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) की सरकार की उपलब्धियां भी रखीं।

बीजेपी के मुस्लिम विरोधी होने के आरोप पर क्या बोलीं स्मृति?

भारतीय जनता पार्टी (BJP) एक मुस्लिम विरोधी (Anti-Muslim) पार्टी है, इस सवाल का जवाब भी स्मृति ईरानी ने अपने ही अंदाज़ में दिया। स्मृति ईरानी ने कहा कि, सरकार की प्राथमिकता सभी के समग्र विकास को सुनिश्चित करना है। उन्होंने आगे कहा कि, मोदी सरकार ने कांग्रेस के 12,000 करोड़ रुपये की तुलना में 31,450 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है, जो खुद सरकार की प्राथमिकता के बारे में बताता है। अल्पसंख्यक मामलों की मंत्री स्मृति ने कहा कि…

"मुझे लगता है कि सरकार की प्राथमिकता ये सुनिश्चित करना है कि हर वर्ग को ये सुनिश्चित किया जाए कि किसी भी वर्ग, किसी भी समुदाय या किसी भी जरूरत के लिए वित्तीय आवंटन किया जाता है। उन्हें खुद को मुस्लिम समुदाय के रक्षक कहने वाले गांधी परिवार से पूछना चाहिए कि उनकी सरकार ने केवल 12,000 करोड़ रुपये का खर्च दिखाया है, और पिछले 9 वर्षों में, मोदी सरकार ने 31,450 करोड़ रुपये का बजट दिया है। आंकड़े खुद केंद्र की प्राथमिकता के बारे में सच्चाई बताते हैं।''

‘सत्ता के लिए देश का विरोध कर रही है कांग्रेस’

स्मृति ईरानी ने कहा कि, कांग्रेस नेतृत्व भारतीय लोकतंत्र (Indian Democracy) को चोट पहुंचाने के लिए बाहरी ताकतों का इस्तेमाल कर रहा है और सत्ता की भूख में देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था को चोट पहुंचाने पर उतारू है।

"कांग्रेस नेतृत्व हमारे लोकतंत्र को चोट पहुँचाने के लिए बाहरी ताकतों का इस्तेमाल कर रहा है। जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहे हैं, कांग्रेस नेताओं की ऐसी गतिविधियों का वर्णन अपने आप में एक संकेत है कि कांग्रेस सत्ता पर कब्जा करने की कोशिश कर रही है। भूख में, वो चोट करने के लिए दृढ़ हैं। अपने देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था पर गांधी परिवार के लोग इतने बेबस क्यों हैं?"

नीतीश कुमार पर स्मृति ईरानी का प्रहार

नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की विपक्षी एकता के बारे में बात करते हुए स्मृति ईरानी ने कहा कि बिहार में जैसे पुल बह गया, वैसे ही उनकी चाहत भी बह जाएगी। ओडिशा ट्रेन हादसे (Odisha Train Accident) और सीबीआई जांच (CBI Enquiry) को लेकर ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) के बयान पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि जो सच्चाई से विमुख नहीं हैं उन्हें सीबीआई जांच पर भी सवाल नहीं उठाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Posts

Most Popular