Tuesday, April 23, 2024
Homeदेश'Zoravar' can be deployed on LAC: भाग चीन भाग, 'ज़ोरावर' आया !

‘Zoravar’ can be deployed on LAC: भाग चीन भाग, ‘ज़ोरावर’ आया !

अरुणाचल प्रदेश के तवांग में हुई झड़प के बाद भारतीय सेना ने अब चीन को ज़ोरदार पटखनी देने की तैयारी कर ली है। भारतीय सेना में ‘जोरावर’ टैंक को शामिल करने की तैयारी चल रही है। भारत के नोपोलियन कहे जाने वाले जनरल जोरावर सिंह (General Zorawar Singh) के नाम पर इस टैंक का नामकरण किया गया है। जोरावर सिंह ने तिब्बत में कई बड़ी लड़ाइयां लड़ीं और उनमें जीत हासिल की थी। सन 1841 में दुश्मन सेना से युद्ध लड़ने के दौरान जोरावर सिंह शहीद हो गए थे। लेकिन, अब इन्हीं के नाम पर भारतीय सेना (Indian Army) एक मेड इन इंडिया टैंक बना रही है। ये टैंक वज़न में बेहद हल्के होंगे और इन्हें पहाड़ी इलाकों में तैनात करना आसान होगा। पूर्वी लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश में इन टैकों की तैनाती को लेकर सेना रक्षा मंत्रालय को प्रस्ताव भेज चुकी है। रक्षा मंत्रालय जल्द ही इस पर चर्चा कर फैसला लेगा।

– ज़ोरावर टैंक का वज़न 25 टन है। हल्का होने की वजह से इसे LAC के पहाड़ी और दुर्गम इलाकों में तैनात करने के साथ एक जगह से दूसरी जगह लाने ले जाने में आसानी होगी।

– ज़ोरावर टैंक (Tank) में तीन लोगों के बैठने की जगह होगी और इसका कवच इतना मज़बूत होगा कि अंदर बैठे जवानों का बड़े से बड़े हथियार बाल भी बांका नहीं कर पाएंगे।

– आधुनिक दौर के युद्ध और चुनौतियों को देखते हुए इस टैंक को इंटेलिजेंस और टैंक मिसाइल फायरिंग सिस्टम से लैस किया जाएगा ताकि दुश्मन को चारों खाने चित करने में कोई परेशानी ना हो।

ज़ोरावर टैंक दुश्मन देशों के ड्रोन की जानकारी दे सकेगा। इसमें ऐसा सिस्टम लगा होगा जो किसी भी ड्रोन का पता लगाने के साथ उसे पलक झपकते ही ज़मीन पर मार गिराएगा।

सेना से जुड़े सूत्रों के मुताबिक लाइट वेट ज़ोरावर टैंक का निर्माण नए साल में शुरु हो जाएगा। सबकुछ तय प्लान के तहत चला तो इसे अगले साल यानि 2024 में भारतीय सेना को सौंप दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Posts

Most Popular