Saturday, April 20, 2024
HomeखेलIPL 2023 Final, Chennai Wins: यूं ही नहीं कोई धोनी बन जाता,...

IPL 2023 Final, Chennai Wins: यूं ही नहीं कोई धोनी बन जाता, माही ने चेन्नई को ऐसे बनाया 5वीं बार चैंपियन, देखिए आईपीएल के सबसे रोमांचक फाइनल की यादगार तस्वीरें और रिकॉर्ड्स

यूं ही नहीं कोई धोनी बन जाता। यूं ही नहीं कोई माही कहलाता। यूं ही नहीं किसी नाम से विरोधी टीमें कांपने लगतीं। यूं ही नहीं जिसकी रणनीति से बड़ी से बड़ी टीम भी पानी मांगती। वो धोनी ही हैं जिनकी कप्तानी में एक बार फिर चेन्नई सुपर किंग्स ने इतिहास रचा। वो धोनी ही हैं जिनकी टीम चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Super Kings) ने पिछली बार की चैंपियन गुजरात टाइटन्स (Gujrat Titans) को एक रोमांचक मुकाबले में 5 विकेट से हराते हुए इंडियन प्रीमियर लीग 2023 (IPL) की ट्रॉफी उठाई।

जीत के बाद ट्रॉफी उठाने का वीडियो

जड्डू ने आखिरी दो गेंदों पर ऐसे मारी बाज़ी

गुजरात टायटंस ने अहमदाबाद (Ahmedabad) के नरेंद्र मोदी स्टेडियम (Narendra Modi Stadium) में पहले बल्लेबाजी करते हुए फाइनल मैच में 214/4 का सबसे बड़ा स्कोर पोस्ट किया, लेकिन चेन्नई ने पांचवां खिताब हासिल करने के लिए एड़ी चोटी का ज़ोर लगाया। मैच आखिरी ओवर तक पहुंच गया। सबकी सांसें अटकी थीं। गुजरात और चेन्नई के खिलाड़ियों, कोच, सपोर्ट स्टाफ और मैनेजमेंट से जुड़े लोगों की धड़कने तेज़ थीं। चेन्नई को मैच जीतने के लिए 2 बॉल पर 10 रन की दरकार थी। रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) क्रीज़ पर थे और मोहित शर्मा (Mohit Sharma) के हाथों में गेंद थी। पहली गेंद पर जड्डू ने लॉन्ग की ओर छक्का मारा। जबकि आखिरी बॉल पर फाइन लेग की ओर चौका जड़कर अपनी टीम को जिता दिया।

आखिर गेंद का वीडियो

डग आउट में बैठे धोनी ने कर ली थी आंखें बंद

आखिरी बॉल पर 4 रनों की जरूरत थी। जडेजा एक छक्का मारकर अगली गेंद का सामना करने के लिए तैयार था। स्टेडियम में बैठे दर्शक और टीवी, मोबाइल पर मैच देख रहे फैंस पलकें तक झपका नहीं रहे थे। लेकिन, कैमरे ने एम एस धोनी (MS Dhoni) को आंख बंद किए हुए पाया। धोनी सिर नीचे और आंख बंद किए हुए नज़र आए। धोनी शायद जीत की प्रार्थना कर रहे थे। जैसे ही जडेजा ने चौका जड़ा, पूरा स्टेडिशम खुशी से झूम उठा। लेकिन, हमेशा की तरह धीर-गंभीर रहने वाले माही चेहरे पर सिर्फ मुस्कान लिए नज़र। हालांकि, जडेजा को देखते ही उनकी मुस्कान और बड़ी हो गई। उन्होंने जड्डू को गले लगा लिया। उन्होंने खुशी से जब जडेजा को उठाया, उस वक्त उनकी आंखें भर आईं।

धोनी के खुशी के आंसू

IPL-2023 के वो बेहतरीन पल जो हमेशा याद किए जाएंगे

1  - फाइनल हारने के बाद गुजरात टायटंस के कप्तान हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) ने कहा कि ट्रॉफी के असली हकदार एम एस धोनी ही थे। पांड्या ने कहा कि उनके पास अगले सीज़न की तैयारी के लिए बहुत कुछ सीखने को मिला है। 

2 - मैच खत्म होने के बाद हार्दिक पांड्या और धोनी एक-दूसरे के गले लगे। दोनों किसी बात भी ज़ोर से ठहाके लगाते नज़र आए। ऐसा लग ही नहीं रहा था कि दोनों एक दूसरे खिलाफ खेलें हों। बल्कि ऐसा लग रहा था कि धोनी और पांड्या एक ही टीम की ओर से खेले हों। 
3 - गुजरात अपने डेब्यू सीजन के बाद लगातार बार फाइनल में खेलने वाली पहली ही टीम बनी। हालांकि पांड्या एंड कंपनी लगातार दूसरी बार ट्रॉफी नहीं जीत सकी। 

4 -  चेन्नई सुपरकिंग्स के मिडिल ऑर्डर बैटर अंबाती रायडू (Ambati Rayudu) ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिया। उन्होंने पहले ही कह दिया था कि ये उनका आखिरी IPL होगा। इससे पहले रायडू अंतरराष्ट्रीय स्तर पर वनडे, टी-20 और टेस्ट मैचों से संन्यास ले चुके हैं। 
5 - प्रेज़ेंटेशन सेरेमनी में BCCI के अध्यक्ष रॉजर बिन्नी (Roger Binny) और सचिव जय शाह (Jai Shah) ने धोनी को IPL ट्रॉफी थमाई। टीम ने 5वीं बार खिताब जीता। ट्रॉफी आते ही धोनी ने अपना आखिरी मैच खेल रहे रायडू को ट्रॉफी दी। 

6 - प्रेज़ेंटेशन सेरेमनी के आखिर में धोनी की बेटी जीवा (Ziva Dhoni) और टीम के बाकी खिलाड़ियों के बच्चों ने भी ट्रॉफी के साथ सेलिब्रेट किया। इस दौरान जीवा ट्रॉफी हाथ में लिए नज़र आई। 
7 - एमएस धोनी की CSK ने IPL के 14 संस्करणों में से 5 में खिताब अर्जित किया और टूर्नामेंट के इतिहास में सबसे सफल टीम बनने के लिए 16 संस्करणों में मुंबई इंडियंस के पांच खिताबों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया।

8 - इस सीजन में सीएसके के प्रमुख रन-गेटर डेवोन कॉनवे ने GT के खिलाफ 47 रन बनाकर प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार हासिल किया, जबकि रवींद्र जडेजा ने आखिरी दो गेंदों पर 10 रन बनाकर इसे सबसे रोमांचक टी-20 मैचों में से एक बना दिया। 
9 - IPL-2023 में सबसे ज़्यादा 12 शतक लगे। जबकि इससे पहले 2022 में 8 और 2016 में कुल 7 शतक लगे थे। 

10 - IPL के इस सीज़न में सबसे अधिक 153 अर्धशतक लगे, जबकि 2022 में 118 और 2016 में 117 अर्धशतक लगे थे। 
11 - IPL के इतिहास में इस साल सबसे ज़्यादा 1124 छक्के पड़े, जबकि 37 बार 200+ स्कोर बना। 

12 - इस सीज़न में सबसे ज़्यादा 8 बार 200+ के स्कोर को चेज़ किया गया, जबकि सबसे अधिक 30+ स्कोर बना। शुभमन गिल ने सबसे अधिक 13 बार 30+ स्कोर बनाया। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Posts

Most Popular