Tuesday, May 21, 2024
Homeराज्यInternational Conspiracy of Atique Gang: अतीक गैंग के नापाक मंसूबे बेनकाब, उमेश...

International Conspiracy of Atique Gang: अतीक गैंग के नापाक मंसूबे बेनकाब, उमेश पाल की हत्या के पीछे इंटरनेशनल साजिश, जानिए सिर्फ हत्या नहीं तो क्या था मकसद

24 फरवरी को राजू पाल (Raju Pal) हत्याकांड के प्रमुख गवाह उमेश पाल (Umesh Pal) की दिनदहाड़े हत्या कर दी गई थी। सीसीटीवी में अतीक के बेटे असद (Asad Ahmed) और गुड्डू मुस्लिम (Guddu Muslim) सहित दूसरे आरोपी इस हत्याकांड को अंजाम देते हुए नज़र आए थे। जिसके बाद सीएम योगी (Cm Yogi) ने कसम खाई की माफिया को मिट्टी में मिला देंगे।

सीएम ने सदन में कहा था माफिया को मिट्टी में मिला देंगे

चंद दिनों के अंदर असद अहमद, गुलाम मोहम्मद और दो शूटर्स पुलिस एनकाउंटर (Encounter) में मार गिराए गए। अतीक और अशरफ की हत्या कर दी गई, जिनपर इस हत्या की साज़िश रचने का आरोप था। जबकि शाइस्ता परवीन, गुड्डू बमबाज़ और शूटर साबिर अब भी फरार हैं। लेकिन, यूपी पुलिस (UP Police) की तफ्तीश में पता चला है कि सिर्फ उमेश पाल को मारना ही हत्यारों का असल मकसद नहीं था। इस हत्याकांड के ज़रिए अतीक गैंग अंतरराष्ट्रीय (International) स्तर पर भारत की छवि को नुकसान पहुंचाना चाहता था। यही नहीं अतीक गैंग उमेश पाल हत्याकांड के ज़रिए यूपी में दहशत फैलाना चाहता था।

उमेश पाल हत्याकांड के 4 प्लान की इनसाइड स्टोरी

अतीक अहमद को लग रहा था कि लोगों में उसके नाम का जो डर खत्म हो रहा है। लिहाज़ा, उसने दिन की रोशनी में उमेश पाल के मर्डर का प्लान बनाया। और इसे अमली जामा पहनाने के लिए चार-चार बैकअप प्लान तैयार किए। सूत्रों के मुताबिक असद अहमद और गुड्डू बमबाज़ ने बाकी आरोपियों के साथ मिलकर प्लान A के तहत काम करना शुरु किया।

इन्वेसटर्स समिट के दौरान उमेश पाल की हत्या का था प्लान

इस प्लान के ज़रिए अतीक गैंग एक तीर से दो शिकार करना चाहता था। प्लान A के मुताबिक 10 से 12 फरवरी के दौरान UP में होने वाले इन्वेसटर्स समिट (Investors Summit) के दौरान उमेश पाल की हत्या की जानी थी। अतीक गैंग चाहता था कि इससे इंटरनेशनल लेवल पर भारत की साख को बट्टा लगे। इसके लिए अरशद, नियाज़ और गुड्डू मुस्लिम माफ़िया अतीक के चकिया वाले घर पर रुके थे, वहीं उमेश पाल पर हमले की हालांकि कुछ शूटरों ने इसके लिए मना कर दिया था।

CCTV में गोली चलाता दिखा था उस्मान

दहशत फैलान के लिए कचहरी के बाहर हत्या का था प्लान

इसके बाद उमेश पाल की हत्या के लिए प्लान B तैयार किया गया। जिसमे ये तय किया गया कि प्रयागराज कचहरी के बाहर हत्या की जाए, लेकिन ये प्लान भी फेल हो गया।

उमेश पाल मर्डर का CCTV फुटेज

प्रयागराज के चौराहे या घर के बाहर हत्या की थी तैयारी

तीसरा प्लान यानी प्लान C भी तैयार किया गया, जिसमें प्रयागराज के किसी चौराहे पर हत्या की तैयारी थी, हालांकि ये प्लान भी बेकार हो गया। फिर प्लान D बनाया गया, जिसके तहत उमेश पाल के घर से कुछ दूरी पर हत्याकांड को अंजाम देने की तैयारी की गई। प्लान D पर सभी शूटर सहमत हो गए और 24 फरवरी को इसे अंजाम दे दिया गया।

अतीक के बेटे असद के एनकाउंटर की तस्वीर

असद एनकाउंटर की न्यायिक जांच कराएगी योगी सरकार

उमेश पाल हत्याकांड को अंजाम देने वाले अतीक के बेटे असद को झांसी के पास ट्रेस किया गया। यूपी एसटीएफ की टीम ने असद और उसके साथी गुलाम मोहम्मद को घेरा। STF के मुताबिक, असद और गुलाम ने पुलिस पर फायरिंग की। जवाबी कार्रवाई में दोनों मारे गए। लेकिन, असद और गुलाम मोहम्मद के एनकाउंटर के बाद STF की कार्रवाई पर सवाल भी उठे। लिहाज़ा, योगी सरकार ने इस एनकाउंटर की जांच के लिए दो सदस्यीय न्यायिक आयोग का गठन किया है।

  • हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज राजीव लोचन मेहरोत्रा को न्यायिक आयोग का अध्यक्ष बनाया गया है।
  • जबकि, रिटायर्ड DG विजय कुमार गुप्ता इस एनकाउंटर की जांच करेंगे।
  • एनकाउंटर वाली जगह यानि झांसी जाकर ये न्यायिक आयोग मामले की जांच करेगा।
  • इससे पहले मामले की मजिस्ट्रेट जांच का आदेश हुआ था। लेकिन, उसपर भी सवाल खड़े किए गए थे
  • जिसके बाद योगी सरकार ने न्यायिक आयोग के गठन का फैसला किया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Posts

Most Popular