Friday, June 21, 2024
Homeराज्यSachin Pilot Says, "Forgive And Forget": राजस्थान कांग्रेस का सबसे बड़ा संकट...

Sachin Pilot Says, “Forgive And Forget”: राजस्थान कांग्रेस का सबसे बड़ा संकट टल गया? सचिन पायलट ने ऐसा क्या कहा कि राहुल गांधी ने ली राहत की सांस

कांग्रेस नेता (Congress leader) सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने शनिवार को स्पष्ट कर दिया कि उन्होंने पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे (Mallikarjun Kharge) की सलाह पर राजस्थान (Rajasthan) के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के साथ मनमुटाव को दफन कर दिया है। सचिन पायलट ने कहा कि, विधानसभा चुनाव (Assembly Election) में आगे बढ़ने के लिए सामूहिक नेतृत्व ही एकमात्र रास्ता है। पार्टी की राजस्थान चुनाव रणनीति (Polls Strategy) बैठक के कुछ ही दिनों बाद एक इंटरव्यू में पायलट ने कहा कि, ''खरगे ने उन्हें माफ करें, भूल जाएं और आगे बढ़ने की सलाह दी। ये एक निर्देश के समान सलाह थी। अशोक गहलोत जी मुझसे बड़े हैं, उनके पास अनुभव भी ज्यादा है। उनके कंधों पर भारी जिम्मेदारियां हैं। जब मैं राजस्थान कांग्रेस का अध्यक्ष था तो मैंने सभी को साथ लेकर चलने की कोशिश की। मुझे लगता है कि आज वो मुख्यमंत्री (गहलोत) हैं।'' सचिन पायलट ने आगे कहा कि, अगर थोड़ा भी इधर-उधर हुआ तो ये कोई बड़ा मुद्दा नहीं है, क्योंकि किसी भी व्यक्ति से ज्यादा महत्वपूर्ण पार्टी और जनता है।  राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा, ''मैं भी इसे समझता हूं और वो (अशोक गहलोत) भी इसे समझते हैं।''
सचिन पायलट का ट्वीट
पिछली वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) सरकार में भ्रष्टाचार जैसे मुद्दों पर निष्क्रियता को लेकर गहलोत सरकार की आलोचना के बारे में पूछे जाने पर पायलट ने कहा कि, उनके साथ एक बैठक में, कांग्रेस प्रमुख खरगे (Mallikarjun Kharge) ने कहा था कि वो समय बीत चुका है। वापस नहीं आना है और भविष्य की ओर देखना है। सचिन पायलट के मुताबिक खरगे ने उनसे बोला कि, मेरा मानना ​​है कि अब हमें आगे बढ़ना है और नई चुनौतियों का सामना करना है। इस देश को कांग्रेस के अच्छे प्रदर्शन की जरूरत है। हमें राजस्थान के लोगों का आशीर्वाद लेने की जरूरत है और ऐसा करने के लिए हमें एकजुट होकर काम करना होगा और उस तरीके से आगे बढ़ना होगा जो लोगों और पार्टी कार्यकर्ताओं को स्वीकार्य हो।'
सचिन पायलट की टिप्पणी खरगे, पूर्व पार्टी प्रमुख राहुल गांधी (Rahul Gandhi), राजस्थान के AICC प्रभारी सुखजिंदर रंधावा, राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद डोटासरा, उनके और राज्य के कई विधायकों और मंत्रियों द्वारा यहां AICC मुख्यालय में एक चुनावी रणनीति बैठक में भाग लेने के बाद आई है। पैर की उंगलियों की चोट से उबर रहे गहलोत वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक में शामिल हुए थे। बैठक के बाद कांग्रेस ने गुरुवार को कहा था कि, वो राजस्थान विधानसभा चुनाव जीत सकती है, बशर्ते एकता हो और अनुशासन बनाए न रखने वालों और पार्टी मंच के बाहर बोलने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी जाए। पार्टी ने ये भी संकेत दिया कि वो इस साल के अंत में होने वाले चुनावों के लिए मुख्यमंत्री पद का चेहरा घोषित नहीं कर सकती है।
कांग्रेस महासचिव संगठन प्रभारी केसी वेणुगोपाल (KC Venugopal) की इस टिप्पणी के बारे में पूछे जाने पर कि पार्टी कभी भी मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार की घोषणा नहीं करती है, पायलट ने कहा, "मुझे लगता है कि वेणुगोपाल जी ने जो कहा वो गलत नहीं है। हर बार जब हम चुनाव में जाते हैं, तो ये कोई व्यक्ति नहीं होता है। इसलिए 2018 में मैं राज्य पार्टी अध्यक्ष था और जब हमने एकजुट होकर चुनाव लड़ा तो हमने कभी नहीं कहा कि एक्स, वाई, जेड सीएम चेहरा होंगे। ये एक निर्णय है जो चुनाव के बाद होता है।'' पायलट ने जोर देकर कहा कि, राजस्थान में कांग्रेस सरकार A B C के बारे में नहीं है, बल्कि पार्टी के बारे में है और पार्टी का नेतृत्व, राष्ट्रीय और राज्य नेतृत्व एक सामूहिक इकाई है।
सचिन पायलट की तस्वीर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Posts

Most Popular