Saturday, July 13, 2024
Homeराज्यUP ATS raid: यूपी के 30 ज़िलों में एटीएस की छापेमारी, जानिए...

UP ATS raid: यूपी के 30 ज़िलों में एटीएस की छापेमारी, जानिए प्रतिबंधित संगठन PFI के कितने मददगार हिरासत में लिए गए

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की एंटी टेरर स्क्वॉयड (ATS) ने एक साथ कई शहरों में रविवार सुबह छापेमारी की। इस छापेमारी से हड़कंप मच गया। छापेमारी की ये कार्रवाई लखनऊ (Lucknow), मेरठ (Meerut), मुरादाबाद (Muradabad), वाराणसी (Varanasi), आजमगढ़ (Azamgarh) समेत 30 जिलों में की गई। ATS ने एक साथ सर्च ऑपरेशन चलाकर प्रतिबंधित संगठन PFI से जुड़े करीब 70 लोगों को हिरासत में लिया। लखनऊ के विकास नगर से भी एटीएस ने एक युवक को उठाया। जबकि BKT के अचरामऊ गांव में भी एटीएस ने छापा मारा। इस कार्रवाई में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) से जुड़े 2 लोगों को हिरासत में लिया गया। छापेमारी के दौरान हिरासत में लिए गए परवेज अहमद और रईस अहमद के रूप में पहचाने गए दो आरोपियों में से प्रत्येक पर ₹50,000 का इनाम था। इन दोनों को वाराणसी से गिरफ्तार किया गया था। पुपुलिस ने कहा कि 70 लोगों को पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) और उससे जुड़े संगठनों से कथित तौर पर जुड़े होने के कारण हिरासत में लिया गया है और एटीएस उनसे पूछताछ कर रही है।
PFI की रैली/ पुरानी तस्वीर

60 दिन की प्लानिंग के बाद ATS का एक्शन

यूपी पुलिस से जुड़े सूत्रों की मानें तो PFI पर बैन लगने के बाद भी कई लोग गुप्त तरीके से इसके लिए काम कर रहे थे। जिसके बाद यूपी एटीएस ने इन लोगों को दबोचने का प्लान तैयार किया। दो महीनों की कड़ी मशक्कत के बाद PFI के खिलाफ प्रदेश स्तरीय सर्च ऑपरेशन चलाया गया। सर्च ऑपरेशन 30 जिलों में चलाया गया जिसमें करीब 70 लोगों को हिरासत में लिया गया। जानकारी के मुताबिक हिरासत में लिए सभी लोगों से पूछताछ की जा रही है।

यूपी एटीएस के जवान/ पुरानी तस्वीर
यूपी ATS के क्यों लिया एक्शन ?
- PFI पर प्रतिबंध लगने के बाद फॉरेन फंडिंग के इनपुट मिले थे
-  PFI को दोबारा सक्रिय करने की कोशिश का इनपुट मिला था

फंडिंग इकट्ठा कर संगठन को सक्रिय करने के इनपुट को लेकर यूपी एटीएस ने प्रदेश भर में ये सर्च ऑपरेशन चलाया। रिहाई मंच के अध्यक्ष और CAA-NRC में सरकार का विरोध करने पर जेल जाने वाले मोहम्मद शोएब को ATS ने घर से गिरफ्तार किया। आरोप है कि पीएफआई से जुड़े लोगों के केस लड़ने और उनकी रिहाई भी मोहम्मद शोएब करवाता है।

कर्नाटक में चुनाव प्रचार के दौरान योगी आदित्यनाथ

कर्नाटक से योगी की दहाड़, कांग्रेस पर लगाया ये आरोप

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने शनिवार को कर्नाटक में चुनाव प्रचार के दौरान “राष्ट्रवादी लोगों” से एकजुट होने और प्रतिबंधित संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के समर्थकों को कर्नाटक चुनाव में धूल चटाने का आग्रह किया। सीएम योगी ने पूर्व की कांग्रेस और JD (S) सरकारों पर हमला बोलते हुए कहा कि, ‘एक तरफ उन्होंने अपनी देश विरोधी गतिविधियों को आगे बढ़ाने के लिए पीएफआई जैसे भारत विरोधी संगठन को खुला छोड़ दिया,और दूसरी तरफ बजरंग दल जैसे संगठन पर प्रतिबंध की बात कर रहे हैं जो राष्ट्र और समाज सेवा के लिए समर्पित और भगवान हनुमान को समर्पित है। ये हिंदू धर्म का अपमान करने जैसा है और कोई भी राष्ट्रवादी इसे बर्दाश्त नहीं करेगा।’

योगी आदित्यनाथ की ट्वीट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Posts

Most Popular