Tuesday, May 21, 2024
HomeविदेशImran Khan demands immediate inquiry against Gen Bajwa: इमरान खान ने बाजवा...

Imran Khan demands immediate inquiry against Gen Bajwa: इमरान खान ने बाजवा पर की कार्रवाई की मांग, जानिए राष्ट्रपति को चिट्ठी में इमरान ने क्या लिखा

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने गुरुवार को राष्ट्रपति आरिफ अल्वी (Arif Alvi) से सेना प्रमुख के रूप में बार-बार पद की शपथ का उल्लंघन करने के लिए रिटायर्ड आर्मी चीफ जनरल क़मर जावेद बाजवा (Qamar Javed Bajwa) के खिलाफ तत्काल जांच करने की मांग की है। 14 फरवरी को लिखे एक पत्र में, इमरान ने चार तरीकों को सूचीबद्ध किया जिसमें पूर्व सेना प्रमुख ने कथित रूप से संविधान का उल्लंघन किया, जबकि जनरल बाजवा की कथित टिप्पणी का भी उल्लेख किया। PTI नेता शिरीन मजारी ने भी अपने ट्विटर अकाउंट पर उक्त पत्र की तस्वीरें साझा करते हुए अपने पार्टी प्रमुख के इस कदम की तस्दीक की।

बाजवा ने इमरान को बताया था देश के लिए खतरा

चौधरी के कॉलम का हवाला देते हुए, इमरान ने लिखा कि जनरल बाजवा ने पत्रकार जावेद चौधरी के सामने स्वीकार किया था कि अगर वह सत्ता में बने रहे तो हम इमरान खान को देश के लिए खतरनाक मानते हैं। उन्होंने कहा कि जनरल बाजवा से ये पता लगाना महत्वपूर्ण होगा कि उन्होंने किसे “हम” कहा था। पूर्व प्रधान मंत्री ने सवाल उठाया, किसने उन्हें (जनरल बाजवा) यह तय करने की शक्ति दी कि, एक निर्वाचित प्रधान मंत्री (इमरान) कथित रूप से ‘देश के लिए खतरा’ था यदि वो सत्ता में बने रहे’? इमरान खान ने कहा कि…

“केवल चुनाव के माध्यम से लोग यह तय कर सकते हैं कि वो किसे प्रधानमंत्री के रूप में चुनना चाहते हैं। खुद पर इस तरह का अधिकार लेना उनकी शपथ का स्पष्ट उल्लंघन है जैसा कि संविधान की तीसरी अनुसूची के अनुच्छेद 244 में दिया गया है।”

कॉल रिकॉर्डिंग मामले में बाजवा पर बिफरे इमरान

पीटीआई के अध्यक्ष इमरान खान ने कथित कॉल रिकॉर्डिंग मामले में भी बाजवा पर निशाना साधा। उन्होंने राष्ट्रपति को लिखी चिट्ठी में इस बात का उल्लेख किया। उन्होंने इसे पूर्व सेना प्रमुख की शपथ के साथ-साथ मौलिक मानवाधिकारों का गंभीर उल्लंघन बताया। उन्होंने पूछा की, “सवाल यह है कि जनरल बाजवा गोपनीय बातचीत क्यों और किस अधिकार के तहत रिकॉर्ड कर रहे थे?”

‘रूस से दोस्ती करनी चाही तो बाजवा बन गए दुश्मन’

इमरान ने पिछले साल फरवरी में अपनी रूस यात्रा का जिक्र भी किया, जिसे विवादास्पद बना दिया गया था क्योंकि ये रूस द्वारा यूक्रेन पर आक्रमण करने के समय के आसपास निर्धारित किया गया था। उन्होंने कहा कि, ‘जनरल बाजवा ने एक बार फिर अपनी शपथ का गंभीर उल्लंघन किया जब वो सार्वजनिक रूप से रूस-यूक्रेन युद्ध में तटस्थता बनाए रखने की तत्कालीन सरकार की नीति के खिलाफ गए’।

इमरान खान पर लटक रही है गिरफ्तारी की तलवार

पाकिस्तान इलेक्शन कमिशन के बाहर प्रदर्शन करना पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को भारी पड़ सकता है। इस मामले में लाहौर हाईकोर्ट की सख्त टिप्पणी के बाद कयास लगाए जाने लगे हैं कि बहुत जल्द इमरान खान को जेल भेजा जा सकता है। दरअसल, पाकिस्तान की ATC यानि आतंकवाद रोधी अदालत ने इमरान खान के खिलाफ इलेक्शन कमिशन ऑफ पाकिस्तान के बाहर विरोध प्रदर्शन करने को लेकर मामला दर्ज किया था। ATC ने इमरान खान को कई बार तलब भी किया। लेकिन, वो पेश नहीं हुए और लाहौर हाईकोर्ट में सुरक्षात्मक जमानत के लिए अपील कर दी। इमरान खान के वकील ने कहा कि, वो 3 नवंबर को हुए जानलेवा हमले के बाद से चल फिर नहीं सकते, लिहाज़ा उन्हें खुद पेश होने से छूट दी जाए। लेकिन, उनकी इस अपील पर अदालत ने सख्त रुख अपनाते हुए कहा कि…

''PTI के अध्यक्ष इमरान खान अगर घायल हो गए हैं और चल नहीं सकते हैं तो उन्हें एंबुलेंस में लेकर आना चाहिए, क्योंकि वो इस मामले में प्रोटेक्टिव बेल चाहते हैं। प्रोटेक्टिव बेल के मामले में भी संदिग्ध की पेशी जरूरी होती है।''

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Posts

Most Popular