Friday, June 21, 2024
HomeविदेशImran sold the gold medal received from India: भारत के गोल्ड मेडल को...

Imran sold the gold medal received from India: भारत के गोल्ड मेडल को इमरान ने बेच दिया? जानिए कितने में इमरान ने बेचा गोल्ड मेडल

  • इमरान ख़ान को भारत से मिले गोल्ड मेडल पर बवाल
  • पाकिस्तान के डिफेंस मिनिस्टर ने लगाया मेडल बेचने का आरोप
  • मेडल खरीदने वाले शकील अहमद ने मीडिया को बताई सच्चाई
  • भारत द्वारा दिए गए गोल्ड मेडल को PCB ने संभाल कर रखा

पाकिस्तान (Pakistan) के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) की मुसीबतें कम होने का नाम ले रही हैं। एक तरफ वो तोशाखाना मामले में फंसे हुए हैं, जिसमें उनपर विदेशों से मिले गिफ़्ट बेचने का आरोप है। सऊदी अरब (Saudi Arab) से मिली बेशकीमती घड़ी बेचने का आरोप है। तो वहीं दूसरी तरफ अब उनपर गोल्ड मेडल बेचने का आरोप लगा है। दरअसल, पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ (Khawaja Muhammad Asif) ने दावा किया है कि, पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत से मिले गोल्ड मेडल (Gold medal) को बेच दिया। ये मेडल इमरान खान को तब मिला था जब वो पाकिस्तान क्रिकेट टीम का हिस्सा हुआ करते थे। 1987 में उन्हें बेहतरीन प्रदर्शन के लिए भारत में गोल्ड मेडल मिला था। ख्वाजा आसिफ ने संसद सत्र के दौरान कहा कि, ”गोल्ड मेडल इंडिया ने दिया, इमरान ने वो भी बेच दिया। आप हिसाब लगाएं ये कितनी बड़ी बदकिस्मती है। हमें उसपर आरोप नहीं लगाना चाहिए, अपने गिरेबां के अंदर झांकना चाहिए।”

गोल्ड मेडल’ खरीदने वाले शकील अहमद ने बताई सच्चाई

पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ़ के आरोप के बाद वहां एक नया सियासी तूफान खड़ा हो गया। पाकिस्तान की मौजूदा सरकार ने इमरान खान को घेरना शुरु कर दिया। पहले सऊदी अरब की घड़ी, और अब भारत से मिला गोल्ड मेडल बेचने को लेकर इमरान से सवाल पूछे जाने लगे। लेकिन, पाकिस्तान की मीडिया ने शकील अहमद नाम के उस शख्स को ढूंढ निकाला जिसने इस गोल्ड मेडल को खरीदा था। पुराने सिक्कों का संग्रहण करने वाले शकील अहमद ने कई सनसनीख़ेज़ खुलासे किए। उसने बताया कि..

  • 2014 में लाहौर से मेडल का एक लॉट खरीदा था, जिसमें इमरान को भारत से मिला गोल्ड मेडल भी शामिल था
  • उसने कहा कि शायद ये मेडल इमरान खान से गुम हो गया था, लिहाज़ा,उसने उसे वापस करने की बहुत कोशिश की।
  • लेकिन, जब उसकी इमरान ख़ान से मुलाकात नहीं हो सकी, तो उसने इस मेडल की साफ-सफाई कर उसे पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को सौंप दिया।
  • जिसके बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने इसका फॉरेंसिक टेस्ट करवाया, जिसमें साबित हो गया कि ये मेडल इमरान ख़ान का ही है जो उन्हें भारत से मिला था।

शकील अहमद ने बताया की जब उसे इमरान ख़ान को भारत से मिला गोल्ड मेडल हाथ लगा तो वो बहुत बुरी स्थिति में था। लेकिन, जैसे ही उसने इसे साफ किया, उसे समझ आ गया कि इस मेडल का क्या महत्व है। लिहाज़ा, उसने पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के मुखिया इमरान ख़ान तक इस बाबत मेसेज पहुंचवाया। शकील ने अपने जानकारों के ज़रिए इमरान ख़ान को बताया कि उसके पास वो गोल्ड मेडल है जो उन्हें भारत से मिला था। लेकिन, शकील तब हैरान रह गया जब इमरान ख़ान ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी, और ना ही इस मेडल को लेने की बात कही। शकील ने पाकिस्तान के एक न्यूज़ चैनल से बातचीत में कहा कि, ”मुझे बाद में पता लगा कि मैसेज इमरान खान साहब तक पहुंच गया है कि वो मेडल आपका है, मैसेज पहुंच गया है और किसी ने बता भी दिया है। लेकिन, इमरान ख़ान साहब ने उसपर गौर नहीं किया।” यही नहीं बकौल शकील अहमद, इमरान ख़ान ने ये जानने की ज़हमत भी नहीं उठाई कि ये मेडल उनके पास से गुम कैसे हुआ। भारत से मिला ये गोल्ड मेडल उसतक कैसे पहुंचा।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने गोल्ड मेडल को संभाल कर रखा

COURTSEY.CRICKET PAKISTAN

इमरान ख़ान शायद बेसुध थे। उन्हें अपनी सरकार बचाने के अलावा और कुछ भी समझ नहीं आ रहा था। लिहाज़ा, सिक्के इकट्ठे करने वाले शकील अहमद ने भारत से इमरान को मिले गोल्ड मेडल को अपने पास संभाल कर रखा। लेकिन, इसी बीच पीसीबी (PCB) ने इसका संज्ञान ले लिया और मेडल को शकील अहमद से अपने कब्ज़े में ले लिया। शकील ने बताया कि, ”पीसीबी ने खुद दो साल पहले मुझसे संपर्क किया। उनके जो डायरेक्टर थे समीउल्लाह ख़ान उनकी कॉल आई थी कि आप ये मेडल हमें दिखाएं, तो फिर मैं मेडल लेकर गया। उन्होंने मेडल क्यूरेटर को दिखाया। क्यूरेटर ने कहा ये बिल्कुल ऑरिजिनल मेडल है। मेरी उन्होंने मुलाकात कराई एहसान मनी साहब से, जो चेयरमैन थे पीसीबी के।” एहसान मनी ने शकील अहमद से पूछा कि क्या वो इस गोल्ड मेडल को बेचना चाहते हैं, बकौल शकील उसने मना कर दिया और स्वेच्छा से गोल्ड मेडल PCB के हवाले कर दिया। फिलहाल पीसीबी ने इमरान को मिले गोल्ड मेडल को बहुत सहेज कर रखा है। शकील अहमद ने बताया कि उस मेडल को पीसीबी ने उसी वर्ल्ड कप ट्रॉफी के साथ रखा है जिसे इमरान की कप्तानी में पाकिस्तान की टीम जीती थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Posts

Most Popular