Saturday, April 20, 2024
HomeविदेशJoe Biden & Xi Jinping: पीएम मोदी के अमेरिका दौरे पर बाइडन...

Joe Biden & Xi Jinping: पीएम मोदी के अमेरिका दौरे पर बाइडन का बड़ा बयान, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को कहा तानाशाह, बौखलाए चीन ने ऐसे किया पलटवार

पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) अमेरिका (America) की यात्रा के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन (US President Joe Biden) ने एक बड़ा बयान दिया। उन्होंने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) को तानाशाह (Dictator) कह दिया। बाइडन ने कैलिफोर्निया (California) में एक फंडरेजर प्रोग्राम के दौरान शी जिनपिंग पर ये टिप्पणी (Comment on Xi Jinping) की। बाइडेन ने दावा किया कि हाल ही में अमेरिका (America) के ऊपर से एक चीनी गुब्बारा उड़ाया (blown up chinese balloon) गया तो शी जिनपिंग बहुत शर्मिंदा हुए थे। उन्होंने कहा कि, ‘जब मैंने जासूसी उपकरणों से भरे उस गुब्बारे को नीचे गिराया, तो शी जिनपिंग बहुत परेशान हो गए थे। ये तानाशाहों के लिए बड़ी शर्मिंदगी (Shame on dictators) की बात है।’

शी जिनपिंग , चीन के राष्ट्रपति (फाइल फोटो)

बौखलाए चीन ने बाइडन के बयान पर कही ये बात

बाइडन ने शी जिनपिंग को तानाशाह करार दिया तो चीन आगबबूला (China Furious) हो उठा। उसने बाइडेन (Biden) के बयान को गैर जिम्मेदाराना और बेतुका (Irresponsible and Absurd) बताया। चीन ने इसे राजनयिक प्रोटोकॉल और उसकी राजनीतिक गरिमा का गंभीर उल्लंघन (grave violation of political dignity) करार दिया। गौरतलब है कि जो बाइडन और शी जिनपिंग पिछले साल नवंबर में इंडोनेशिया में हुए G-7 शिखर सम्मेलन के मौके पर राष्ट्रपति के रूप में पहली बार व्यक्तिगत रूप से मिले थे। जबकि अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन को इसके बाद चीन की यात्रा पर जाना था। जिसकी घोषणा बाइडेन और शी ने अपनी बैठक के बाद की थी। ये यात्रा फरवरी में होने वाली थी और इसे अहम माना जा रहा था। हालांकि, संदिग्ध चीनी जासूसी गुब्बारे की घटना के बाद इसे स्थगित कर दिया गया था।

पीएम मोदी और जो बाइडन (फाइल फोटो)

मोदी और बाइडन के बीच चीन पर होगी चर्चा!

हिंद प्रशांत क्षेत्र में चीन के बढ़ते दखल, ताइवान समेत दूसरे देशों पर दादागीरी और भारत समेत कई देशों के साथ सीमा विवाद को लेकर अमेरिका भी चिंतत है। जो बाइडन ने मंगलवार कोकहा कि, हिंद प्रशात क्षेत्र की शांति और स्थिरता बनाए रखने के लिए ‘क्वाड’ का गठन किया गया है। इससे जिनपिंग चिंतित थे।’ लेकिन, सिर्फ क्वाड से चीन पर काबू नहीं पाया जा सकता। चीन को काउंटर करने के लिए उसकी अर्थव्यवस्था पर चोट करनी होगी। लिहाज़ा, अमेरिका की यात्रा पर गए पीएम मोदी की बाइडन के साथ क्वाड समेत चीन से जुड़े दूसरे मुद्दों पर बातचीत की संभावना जताई जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Posts

Most Popular