Friday, June 21, 2024
HomeविदेशKhalistani Terrorist Pannu Dead or Alive? मौत की खबरों के बीच सामने...

Khalistani Terrorist Pannu Dead or Alive? मौत की खबरों के बीच सामने आया गुरपतवंत सिंह पन्नू का वीडियो, संयुक्त राष्ट्र के बाहर खालिस्तानी झंडा लहराने का किया ऐलान, जानिए क्या है सिख फोर जस्टिस के आतंकी पन्नू का पूरा प्लान

दो दिन पहले बुधवार को खबर आई थी कि भारत के वॉन्टेड आतंकी (Terrorist) और सिख फॉर जस्टिस (Sikhs for Justice) के प्रमुख गुरपतवंत सिंह पन्नू ( Gurpatwant Singh Pannu) की अमेरिका (America) में हुए एक एक्सीडेंट में मौत हो गई है। कुछ रिपोर्ट्स में फोटो के साथ दावा किया गया था कि एक कार और ट्रक के बीच टक्कर में उसकी मौत हो गई। लेकिन, अब कहा जा रहा है कि खालिस्तानी आतंकी (Khalistani Terrorist) गुरपतवंत सिंह पन्नू जिंदा है। सिख फॉर जस्टिस के फाउंडर और खालिस्तान समर्थक गुरपतवंत सिंह पन्नू का एक वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया, जिसमें वो अमेरिका के न्यूयॉर्क (New York) स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय (UN Headquarter) के सामने खड़ा दिखाई दिया।

न्यूयॉर्क स्थित UN हेडक्वाटर के बाहर दिखा पन्नू

वीडियो के जरिए गुरपतवंत सिंह पन्नू ने दी भारत को धमकी

खालिस्तानी आतंकी और पाकिस्तान के पैसों पर पलने वाला गुरपतवंत सिंह पन्नू सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में कहता है कि, आज 5 जुलाई है, ‘आप देख सकते हैं, न्यूयॉर्क यूनाइटेड नेशंस के हेडक्वॉर्टर के सामने खड़ा हूं।’ वो यहीं नहीं रुकता। आतंकी पन्नू ने इस वीडियो में भारत विरोधी बयानबाजी करने के साथ कहा कि, वो एक दिन संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय के सामने खालिस्तान का झंडा लहराएगा। गुरपतवंत सिंह पन्नू ने UN मुख्यालय के बाहर से रिकॉर्ड किए गए वीडियो में कहा कि, खालिस्तानी रेफरेंडम का तीसरा चरण 16 जुलाई को टोरंटो और 10 सितंबर को वैंकूवर में होगा। उसने इसी वीडियो में कहा कि, कनाडा में खालिस्तानी नेता हरदीप सिंह निज्जर (Hardeep Singh Nijjar) की मौत के पीछे भारतीय अधिकारियों का हाथ है।

सोशल मीडिया पोस्ट

निज्जर की हत्या के बाद से अंडर ग्राउंड था पन्नू ?

गुरपतवंत सिंह पन्नू अपने करीबी रहे हरदीप सिंह निज्जर की मौत के बाद से ही सहमा हुआ है। उसे लग रहा है कि निज्जर की मौत से खालिस्तान मूवमेंट पर असर पड़ेगा। शायद यही वजह है कि खालिस्तान कमांडो फोर्स (Khalistan Commando Force) के हरदीप सिंह निज्जर की मौत के बाद अबतक खामोश रहे पन्नू ने अपना वीडियो जानबूझकर वायरल किया। बताया जाता है कि गुरपतवंत सिंह पन्नू मारे गए उग्रवादी निज्जर का करीबी है। निज्जर के मर्डर के बाद पन्नू अंडरग्राउंड हो गया था। पन्नू और निज्जर दोनों एक साथ काम कर रहे थे। जनमत संग्रह अभियान शुरू करने के लिए कई देशों में गए थे। हालांकि, निज्जर के मारे जाने के बाद गुरपतवंत सिंह पन्नू ने अपना प्रचार बंद कर दिया था।

आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू

विदेश मंत्रालय ने पन्नू के वीडियो पर दिया ये बयान

सिख फॉर जस्टिस के प्रमुख और आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू का वीडियो सामने आने के बाद विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची (Arindam Bagchi) ने कहा कि, उन्हें इस बारे में पता है, और भारत खालिस्तान के मुद्दे को तमाम संबंधित देशों के सामने उठा रहा है। बागची ने कहा कि, मैंने ये वीडियो नहीं देखा है, लेकिन मैं इसके बारे में जानता हूं। मैं सबसे पहले तो ये कहना चाहूंगा की UN बिल्डिंग के सामने से वीडियो बनाने से कोई बहुत ज़्यादा फर्क नहीं पड़ने वाला है, लिहाज़ा मैं इस मुद्दे को हटाना चाहूंगा, न्यूयॉर्क की सड़क पर ऐसा करने से क्या होगा, और मुझे नहीं पता कि वो वाकई कहां है, मैं सिर्फ ऐसा मान रहा हूं।” गुरपतवंत सिंह पन्नू ने जिस सिख फॉर जस्टिस की बुनियाद रखी ती, उसे भारत सरकार ने 10 जुलाई 2019 में UAPA कानून के तहत आतंकी संगठन घोषित किया था। उसके एक साल बाद पन्नू को 1 जुलाई 2020 में आतंकी घोषित किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Posts

Most Popular