Friday, June 21, 2024
HomeविदेशPakistan New Army Chief: पाकिस्तान के 'मुल्ला' जनरल ने संभाली सेना की...

Pakistan New Army Chief: पाकिस्तान के ‘मुल्ला’ जनरल ने संभाली सेना की कमान, विदाई भाषण में भावुक हुए बाजवा।

  • जनरल आसिम मुनीर बने पाकिस्तान के 17वें सेना प्रमुख
  • आर्मी हेडक्वॉर्टर में बाजवा के हाथों से ली कमांड स्टिक
  • आसिम की शपथ से पहले कमर जावेद बाजवा हुए भावुक
  • बाजवा ने कहा, ‘पाकिस्तान की सेना मेरी आत्मा में बसी है’

जनरल सैयद आसिम मुनीर पाकिस्तान के 17वें सेना प्रमुख बन गए। जनरल कमर जावेद बाजवा ने उन्हें फौज के हेडक्वॉर्टर GHQ रावलपिंडी में बैटन ऑफ कमांड यानि कमांड स्टिक सौंप दिया। इस मौके पर नए आर्मी चीफ जनरल आसिम मुनीर ने बाजवा को सैल्यूट किया। जबकि, बाजवा ने भी उनका इस्तकबाल करते हुए गले से लगा लिया। मुनीर पहले ऐसे सेना प्रमुख है, जिन्होंने दो सबसे शक्तिशाली खुफिया एजेंसी ISI यानि इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस और MI यानि मिलिट्री इंटेलिजेंस के प्रमुख के रूप में सेवाएं दी हैं। हालांकि वो अब तक सबसे कम समय के लिए आईएसआई प्रमुख रहे। मुनीर के बारे में कहा जाता है कि वो कट्टरपंथियों को प्रश्रय देते हैं और भारत विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहे हैं। मुनीर पर ही पुलवामा आतंकी हमले की साज़िश रचने का आरोप है। हालांकि, अपने विदाई भाषण में जनरल बाजवा ने कहा कि फौज को आसिम मुनीर के तौर पर एक बेहतरीन लीडर मिला है। उन्होंने कहा कि,” मेरी जान-पहचान जनरल आसिम मुनीर से 24 साल पुरानी है। जनरल आसिम मुनीर एक हाफ़िज़-ए-कुरान होने के अलावा एक बहुत पेशेवर और उसूलों के पक्के अफसर हैं। मुझे पूरा यकीन है कि इनके नेतृत्व में फौज कामयाबी के नए मुकाम हासिल करेगी।” दरअसल, जनरल क़मर जावेद बाजवा की सलाह पर ही शहबाज़ सरकार ने आसिम मुनीर को उनकी रिटायरमेंट से महज़ चार दिन पहले फोर स्टार के साथ पाकिस्तान का नया आर्मी चीफ बनाया था।

आसिम की शपथ से पहले पूर्व सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा की आंखों में आए आंसू !

पाकिस्तान के पूर्न सेना प्रमुख क़मर जावेद बाजवा ने कमांड स्टिक आसिम मुनीर को सौंपे जाने से पहले अपने पुराने दिनों को याद किया और भावुक हो गए। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की सेना ने हमेशा उनके निर्देशों का पालन किया। उन्होंने जवानों से पसीना मांगा, तो ख़ून दिया। बाजवा ने कहा कि, ” 6 साल के कार्यकाल में LoC पर तनाव हो या मुल्क के अलग-अलग इलाकों में दहशतगर्दी, कानून-व्यवस्था की चुनौतियां हों या प्राकृतिक आपदाओं से मुकाबला। पाकिस्तान की फौज ने हमेशा मेरी आवाज़ पर लब्बैक कहा और जहां मैंने इनसे पसीना मांगा इन्होंने मुझे खून दिया।” अपने बहुत छोटे से भाषण के आखिर में जनरल बाजवा ने कहा कि अब उन्हें भुला दिया जाएगा। लेकिन, वो पाकिस्तान सेना को कभी नहीं भुला पाएंगे। इस दौरान उन्होंने जनरल डगलस मैकआर्थर के शब्द दोहराए और कहा कि, Old soldiers never die. They simply fade away.

आसिम मुनीर की शपथ… शुरु हुई पाकिस्तान सेना में बग़ावत !

कमर जावेद बाजवा की जगह आसिम मुनीर का नया सेना प्रमुख बनना कुछ लोगों को रास नहीं आ रहा। जिसकी वजह से सेना के अंदर उनकी नियुक्ति को लेकर बवाल शुरू हो गया है। इसकी शुरुआत की लेफ्टिनेंट जनरल अज़हर अब्बास ने। जिनका नाम उन 6 लोगों में शामिल था जो चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ के लिए शॉर्ट लिस्ट किए गए थे। हालांकि, पाकिस्तान मीडिया की माने तो अज़हर अब्बास आर्मी चीफ ना चुने पर नाराज़ हो गए, और उन्होंने रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया। यही नहीं, लेफ्टिनेंट जनरल अजहर अब्बास के रिटायरमेंट के ऐलान को 24 घंटे भी नहीं हुए थे कि आर्मी चीफ की रेस में शामिल रहे लेफ्टिनेंट जनरल फैज हामिद ने भी रिटायर होने का ऐलान कर दिया। लेफ्टिनेंट जनरल हामिद ISI के 24वें डायरेक्टर जनरल रह चुके थे। जबकि, उन्हें पूर्व पीएम इमरान ख़ान का भी करीबी बताया जाता है।

आसिम मुनीर के सेना प्रमुख बनने से ख़ुश हुए पाकिस्तान के कट्टरपंथी

जनरल आसिम मुनीर के चयन को लेकर पाकिस्तान में मौजूद कट्टरपंथी संगठनों की बांछें खिली गईं। इन कट्टरपंथी संगठनों का मानना है कि आसिम मुनीर के तौर पर पाकिस्तान को एक काबिल सेना प्रमुख मिला है। पाकिस्तान उलेमा काउंसिल के प्रमुख ने आसिम मुनीर के आर्मी चीफ पद पर नियुक्ति को लेकर खुशी ज़ाहिर की। उलेमा काउंसिल के अध्यक्ष और प्रधानमंत्री के विशेष प्रतिनिधि हाफिज ताहिर महमूद अशरफी ने जनरल असीम मुनीर को बधाई दी और कहा कि, ”इस नियुक्ति से दुनिया में खासकर मुस्लिम देशों में पाकिस्तान का रुतबा बढ़ा है। यह स्वागत योग्य खबर है कि एक हाफिज कुरान पाकिस्तान में सेना प्रमुख बन गया है।” उलेमा काउंसिल के प्रमुख का खुश होना इस बात की तस्दीक करता है कि लेफ्टिनेंट जनरल आसिम मुनीर कट्टरपंथ और आतंकवाद के समर्थक हैं। ये साबित होता है कि उनके कार्यकाल में कट्टरपंथी ताकतें मज़बूत होंगी और कश्मीर में आतंकी घटनाओं में इज़ाफ़ा भी हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Posts

Most Popular